मेरे आने का एकमात्र कारण, मेरी एकमात्र इच्छा, आप सभी के हृदयों में ईश्वर के लिए प्रेम, ईश्वर को जानने की इच्छा, ईश्वर का अनुभव जागृत करना है।
— परमहंस योगानन्द

5 जनवरी, 2022 हमारे परमप्रिय गुरुदेव श्री श्री परमहंस योगानन्द का 129वां जन्मोत्सव या आविर्भाव दिवस है। इस विशेष दिवस पर वाईएसएस संन्यासियों द्वारा अंग्रेज़ी व हिंदी में ऑनलाइन आध्यात्मिक कार्यक्रम संचालित किये गये।

प्रत्येक विशेष कार्यक्रम में चैंटिंग, ध्यान एवं सत्संग शामिल थे।