मैं आपको परमात्मा में मिलने वाले आनन्द के बारे में बताने के लिए यहाँ हूँ; वह आनन्द जो आपमें से प्रत्येक पा सकता है, वह आनन्द जो मेरे जीवन के प्रत्येक क्षण में मुझमें समाहित है।

— परमहंस योगानन्द

श्री श्री परमहंस योगानन्द के आविर्भाव-दिवस के उपलक्ष्य में वाईएसएस संन्यासी द्वारा रविवार, 9 जनवरी सुबह 8:00 बजे से दोपहर 2:00 बजे तक (भारतीय समयानुसार) छः घंटे का लंबा ध्यान संचालित किया गया।

ध्यान का आरंभ शक्ति संचार व्यायाम के अभ्यास से हुआ, जिसके बाद प्रेरक पठन, ध्यान और चैंटिंग के सत्र शामिल थे। ध्यान का समापन गुरुजी की आरोग्यकारी प्रविधि तथा प्रार्थना से हुआ।

इस कार्यक्रम का संचालन दो सत्रों में किया गया :

  • सत्र I : सुबह 8:00 बजे से 11:00 बजे तक (भारतीय समयानुसार)
  • अंतराल : 11:00 बजे से 11:30 बजे तक (भारतीय समयानुसार)
  • सत्र II : सुबह 11:30 बजे से दोपहर 2:00 बजे तक (भारतीय समयानुसार)